najarandaj na kare ye 5 sharirik sanket – Viral News

najarandaj na kare ye 5 sharirik sanket : शारीरिक संकेतों पर गौर करें, और आवश्यकता अनुसार डाइट में जरूरी बदलाव और जीवनशैली की गतिविधियों में सुधार कर आप अपने शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ रख सकती हैं।

यदि आपकी बॉडी टिंगलिंग, ड्राई स्किन से लेकर मसल्स क्रैंप, जैसे शारीरिक संकेत दे रही है, और आप इसे लंबे समय से नजरअंदाज कर रही हैं तो सचेत हो जाएं। ये शारीरिक संकेत आपके शरीर में हार्मोन से लेकर पोषक तत्वों की कमियों को दर्शाते हैं। यदि आप इसपर ध्यान नहीं देती हैं, तो आपकी परेशानी बढ़ सकती है। इसलिए इन संकेतों पर गौर करें, और आवश्यकता अनुसार डाइट में जरूरी बदलाव और जीवनशैली की गतिविधियों (lifestyle activities) में सुधार कर आप अपने शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ रख सकती हैं। हेल्थ कोच मनीषा मंजरी ने कुछ कॉमन बॉडी साइंस बताए हैं, जो अनहेल्दी हैं। साथ ही उन्होंने इसका कारण और इसे अवॉइड करने के टिप्स भी बताए हैं (physical signs of illness)।

भूलकर भी नज़रअंदाज न करें ये 5 शारीरिक संकेत (physical signs of illness)

लगातार बॉडी में दर्द होना

यदि आपकी बॉडी में लगातार दर्द होता रहता है, तो इसे भूलकर भी नज़रअंदाज न करें। यह पोटैशियम की कमी का संकेत हो सकता है। ऐसे में आपको अपनी डाइट में केला शामिल करना चाहिए। केले में भरपूर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है, इसके साथ ही पोटाशियम युक्त अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

शुष्क और खुरदुरी त्वचा

यदि आपकी स्किन काफी ड्राई है, या इसे छुनें पर रफ़ महसूस होता है, तो यह ज़िंक डेफिशियेंसी का संकेत हो सकता है। इस स्थिति में अपनी नियमित डाइट में जिंक युक्त खाद्य पदर्थों को शामिल करें। ओट्स, नट्स, सीड्स, एग, ओएस्टर, अनार, ब्लूबेरी, एवोकाडो आदि में पर्याप्त मात्रा में जिंक पाया जाता है।

शुगर वाले भोजन और शराब का सेवन करने से वजन बढ़ सकता है। चित्र : अडॉबीस्टॉक

बढ़ता बेली फैट

यदि अचानक से आपके पेट की चर्बी बढ़ना शुरू हो गयी है, या आपको बेली फैट महसूस हो रहा है, तो यह आपके शरीर में एस्ट्रोजन के बढ़ते स्तर का संकेत हो सकता है। शरीर में एस्ट्रोजन के बढ़ने से बॉडी में फैट स्टोरेज बढ़ना शुरू हो जाता है। इस स्थिति में एक्सपर्ट गाजर खाने की सलाह देती हैं।

यह भी पढ़ें: बच्चे छोटे हों या बड़े, माॅनसून में उन्हें बीमार पड़ने से बचाने के लिए याद रखें ये 8 चीजें

यह भी पढ़ें

जानलेवा भी हो सकता है एनीमिया, जानिए इसका कारण और बचाव का तरीका

इसके साथ ही बॉडी से एक्सेस एस्ट्रोजन को बाहर निकालने के लिए क्रूसिफेरस सब्जियां, अलसी के बीज, सोया, ग्रीन टी, जामुन और अन्य खाद्य पदार्थ को डाइट में शामिल करें। एस्ट्रोजन रिप्रोडक्टिव हेल्थ के फंक्शन्स के लिए आवश्यक है, लेकिन इसकी अधिकता से विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं।

मसल्स क्रैम्प्स

आपको लगातार मांसपेशियों में क्रैम्प्स महसूस होता रहता है, और आप इसे लंबे समय से नज़रअंदाज करती चली आ रही हैं, तो आपको बताएं की ये बॉडी मैंग्नीशियम की कमी का संकेत हो सकता है। एक्सपर्ट के अनुसार मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए डाइट में पालक के साथ साथ कद्दू के बीज, बादाम, काजू, मूंगफली, सोय प्रोडक्ट्स, बीन्स, सामन, एवोकाडो आदि जैसे खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल करें।

Jaane manspeshiyon ki thakan ko kam karne ke tips.
मांसपेशियों की थकान को नजर अंदाज न करें. चित्र : एडॉबीस्टॉक

बर्फ खाने की क्रेविंग्स होना

बर्फ खाने की क्रेविंग्स होती रहती है, तो यह आयरन डेफिशियेंसी का संकेत हो सकता है, इसे भूलकर भी नज़रअंदाज न करें। बर्फ खाने से बॉडी पर नकारात्मक असर पड़ता है, इसलिए अपनी डाइट में फौरन हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन बढ़ा लें। इसके अलावा टोफू, बीन्स, टमाटर, दाल, अंडे, नट्स और सीड्स, आदि को अपनी डाइट में शामिल करें। इन सभी में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है।

हाथ एवं पैरों में टिंगलिंग होना

अगर आपके हाथ एवं पैरों में बार बार टिंगलिंग महसूस होती है, तो यह विटामिन बी12 की कमी का संकेत हो सकता है। आपको इसे नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए। अगर आप नॉन वेजीटेरियन हैं, तो अपनी डाइट में मीट प्रोटीन सोर्स शामिल करें। अगर आप वेजीटेरियन हैं, तो काली किशमिश को अपनी डाइट में शामिल करें, इससे आपको इस समस्या से निपटने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें: ह्यूमिडिटी बन सकती है इन 7 समस्याओं का कारण, जानें इससे कैसे करना है डील

Source link

Leave a Comment